कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव क्या है - What is ‘Kanya Shikhsa Pravesh Utsav’?

 


देश कि प्रत्येक बच्चे तक शिक्षा पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा निरंतर प्रयास किया जाता है। जिसके लिए सरकार विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन करती है। इन योजनाओं के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध करवाई जाती है। आज हम आपको केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई ऐसी ही एक योजना से संबंधित जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जिसका नाम कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव है। इस योजना के माध्यम से देश की कन्याओं तक शिक्षा की पहुंच सुनिश्चित की जाएगी। इस लेख के माध्यम से आपको Kanya Shiksha Pravesh utsav से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की जाएगी। जैसे कि इस योजना का उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन करने की प्रक्रिया आदि।


कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव क्या है?


केंद्र सरकार द्वारा 7 मार्च 2022 को कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव को आरंभ करने की घोषणा की गई है। Kanya Shikhsa Pravesh Utsav  इस उद्देश्य से शुरू किया गया है कि 11 से 14 साल की स्कूल की पढ़ाई छोड़ चुकीं किशोरियों को शिक्षा प्रणाली में एक बार फिर से वापस लाया जा सके।


यह सवाल कि What is ‘Kanya Shikhsa Pravesh Utsav’ प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण बन गया है, क्योंकि हाल ही में 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर केंद्र सरकार की ओर से यह महत्वपूर्ण योजना शुरू की गई है। कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान इस लक्ष्य के साथ शुरू किया गया है कि 11 से 14 वर्ष तक की उन किशोरियों, जो कि किन्हीं वजहों से स्कूल की पढ़ाई छोड़ चुकी हैं, उन्हें एक बार फिर से शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए, ताकि शिक्षित होकर वे भी स्व के साथ अपने परिवार समाज और इस देश के विकास में अपना बहुमूल्य योगदान दे सकें। यह एक राष्ट्रव्यापी अभियान है और इसकी सफलता के लिए विभिन्न मंत्रालय, विभाग और राज्य मिलजुल कर आपस में सामंजस्य स्थापित करते हुए काम करेंगे।


योजना का नाम : कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव

किसने आरंभ की : केंद्र सरकार

लाभार्थी : देश की कन्याए

उद्देश्य : सभी कन्याओं तक शिक्षा की पहुंच सुनिश्चित करना।

आधिकारिक वेबसाइट : जल्द लॉन्च की जाएगी

साल : 2022


Kanya Shikhsa Pravesh Utsav: क्यों पड़ी आवश्यकता?


- कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान को शुरू किए जाने की वजह खुद इस अभियान के क्रियान्वयन की जिम्मेदारी संभालने वाले बाल विकास मंत्रालय में महिला एवं बाल विकास सचिव इंदेवर पांडे ने बताई है। अभियान को शुरू किए जाने की घोषणा के वक्त उन्होंने भारत में बालिकाओं की शिक्षा से संबंधित कुछ बड़े ही चिंताजनक आंकड़े पेश किए।


- उन्होंने बताया कि देश में वे बालिकाएं, जो कि आंगनबाड़ी में पोषण, पोषण शिक्षा एवं कौशल विकास के लिए इस वक्त जा रही हैं, उनकी संख्या सिर्फ 4 लाख है। इंदेवर पांडे ने यह भी बताया है कि किशोर बालिका योजना (SAG) के अंतर्गत वर्ष 2018-19 के दौरान लाभार्थी किशोरियों की संख्या 11 लाख 88 हजार थी, लेकिन वर्ष 2021 में यह संख्या तेजी से घटी और यह 5 लाख 3 हजार पर घटकर आ गई। इसका मतलब यह हुआ कि किशोर बालिका योजना ज्यादा प्रभावी नहीं रह गई है।


- साथ ही पांडे ने यह भी जानकारी दी है कि पोषण 2 और सक्षम आंगनवाड़ी योजनाओं के अंतर्गत अब सिर्फ 14 से 18 साल की आयु वर्ग की ही किशोरियों को शामिल किया जाएगा। वे किशोरियां, जिनकी उम्र 11 से 14 साल की होगी, नई स्कूली शिक्षा में आंगनवाड़ी प्रणाली में अब वे शामिल नहीं की जाएंगी।


- इसी तरह से यह देखने को मिला कि शिक्षा के प्रति लड़कियों का रुझान तेजी से घटा है। विशेषकर कोरोना महामारी के दौरान इस संख्या में और तेजी से कमी आई है।


- किशोरियों की शिक्षा को लेकर चिंताजनक हालात केवल भारत में ही नहीं हैं। यूएन वूमेन वेबसाइट को यदि आप देखें, तो यहां उपलब्ध आंकड़े आपको यह बताते हैं कि इस दुनिया में जो 79 करोड़ 60 लाख अनपढ़ हैं, उनमें से दो तिहाई से भी अधिक संख्या महिलाओं की है।


- दुनियाभर में सिर्फ 39 फीसदी ग्रामीण लड़कियां ही ऐसी हैं, जो सेकेंडरी स्कूल तक की पढ़ाई करती हैं। वर्ष 2020 में जब से दुनियाभर में कोविड-19 महामारी फैली है, उसके बाद 1 करोड़ 10 लाख से भी ज्यादा लड़कियां पढ़ाई के लिए स्कूल नहीं लौटी हैं।


यूं संचालित होगा कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान


- महिला एवं बाल विकास मंत्रालय और शिक्षा मंत्रालय मिलकर कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान को चला रहे हैं। इस अभियान  को चलाने की जिम्मेवारी कई मंत्रालय, विभाग और अलग-अलग राज्य मिलकर उठाएंगे।


- बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत ही कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान को चलाया जा रहा है। इस अभियान के अंतर्गत सबसे पहले 4 लाख से भी ज्यादा स्कूल नहीं जा रहीं किशोरियों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा और उन तक इसका लाभ पहुंचाने की कोशिश की जाएगी।


- बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत देशभर के अलग-अलग राज्यों के 400 से भी ज्यादा जिलों में कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान को चला कर वहां जमीनी स्तर तक योजना की पहुंच बनाई जाएगी। साथ ही किशोरियों के स्कूलों में नामांकन के लिए समुदायों एवं परिवारों को जागरूक करने के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाए जाएंगे।


- अभियान के तहत जागरूकता फैलाने के लिए वित्त पोषण भी किया जाना शामिल है। समग्र शिक्षा अभियान में लगी कार्यकर्ताओं एवं आंगनवाडी कार्यकर्ताओं को इस चीज के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा कि स्कूल नहीं जा रहीं किशोरियों की वे काउंसलिंग करें और वे उन्हें स्कूल जाने के लिए प्रेरित भी करें।


- समग्र शिक्षा अभियान के अंतर्गत जो पैसे प्राप्त हो रहे हैं, इसका इस्तेमाल इस अभियान को चलाने के लिए किया जाएगा। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की इस अभियान में विशेष भूमिका होने वाली है।


- देशभर में संचालित हो रहे आंगनबाड़ी केंद्र का निरीक्षण इस अभियान के अंतर्गत होगा और स्कूल से बाहर जितनी भी किशोरियां हैं, उन सभी के आंकड़े एकत्र करने की कोशिश की जाएगी।


- शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के लागू हो जाने के बाद जितनी भी लड़कियां स्कूली शिक्षा से दूर हो गई हैं, एक बार फिर से शिक्षा प्रणाली में उन्हें लौटाए जाने का लक्ष्य कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान के अंतर्गत निर्धारित किया गया है।


कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव की पात्रता तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक भारत के स्थाई निवासी होने चाहिए।
  • कन्या की आयु 11 से 14 वर्ष होनी चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी आदि।


कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव में आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र जाना होगा।
  • अब आपको वहां से कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव के फॉर्म की प्राप्ति करनी होगी।
  • अब आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके पश्चात अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको यह फॉर्म आंगनवाड़ी केंद्र में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आप Kanya Shiksha Pravesh Utsav के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे।

Post a Comment

Previous Post Next Post