आज किस कंपनी के शेयर खरीदे जिससे बड़ा मुनाफा हो, शेयर मार्केट में 99% मुनाफा तय


 यदि आप शेयर मार्केट में हरे भरे पोर्टफोलियो के साथ अच्छा खासा मुनाफा कमाना चाहते हैं तो ये पोस्ट शेयर खरीदने का तरीका सिर्फ आप ही के लिए है क्योंकि इसमें हम ऐसी 10 बातें बताने वाले हैं जिन्हें ध्यान रखकर यदि आप किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं तो आपको 99% अच्छा खासा मुनाफा होना तय है।


देखिए शेयर मार्केट के बारे में 100% सही भविष्यवाणी तो कोई भी नहीं कर सकता है क्योंकि किसी भी कंपनी के मालिक को ये खुद भी पता नहीं होता कि कल उसकी कंपनी के साथ क्या होने वाला है लेकिन कुछ साधारण सी और अति महत्वपूर्ण बातें हैं जिनका ध्यान यदि आप किसी कंपनी के शेयर खरीदने से पहले रख लेते हैं तो आपको नुकसान होने की संभावना नहीं के बराबर रह जाती है और मोटे मुनाफे का मिलना लगभग तय हो जाता है।


आज किस कंपनी के शेयर खरीदे जिससे बड़ा मुनाफा हो, ये 10 बाते जान लो शेयर मार्केट में 99% मुनाफा तय


Aaj Kis Company Ke Share Kharide? आज या कल के ऊपर मत जाओ इन 10 बातें का ध्यान रखकर यदि किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं तो आपको एक लंबे समय में नुकसान होने की संभावना नहीं के बराबर हो जाती है और 99% अच्छा खासा मुनाफा मिलना तय ही होता है।


1. कंपनी कर्जमुक्त होनी चाहिए


कर्ज बहुत ही बुरी चीज है जो किसी भी व्यक्ति और कंपनी को बर्बाद कर सकता है क्योंकि कर्ज रहते कोई भी कंपनी अपने लिए स्वतंत्र रूप से अच्छे निर्णय नहीं ले पाती अतः किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने से पहले इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि आप जिस कंपनी के शेयर खरीद रहे हैं वह Debt free यानी कर्जमुक्त होनी चाहिए।


जिस कंपनी पर कर्ज जितना कम होता है उसकी ग्रोथ के आसार उतने ही ज्यादा होते हैं किस कंपनी पर कितना कर्ज है इसे आप मनी कंट्रोल पर उसकी फाइनेंसियल रिपोर्ट देखकर पता कर सकते हैं।


2. संपत्ति, देनदारी से ज्यादा होनी चाहिए


जिस कंपनी की संपत्ति, उसकी देनदारी से जितनी ज्यादा होती है उसकी ग्रोथ के आसार उतने ही ज्यादा होते हैं और वह निवेश के लिए उतनी ही अच्छी मानी जाती है क्योंकि यदि किसी कारणवश कभी कंपनी पर पर कोई बुरी परिस्थिति आ जाती है तो वह अपने कुछ संपत्ति बेचकर देनदारी का भुगतान आराम से कर सकती है और खुद को दिवालिया होने से आराम से बचा सकती है।


प्रत्येक कंपनी Asset & Liabilities यानी संपत्ति और देनदारी वर्ष में चार बार (क्वार्टरली) अपनी फाइनेंसियल रिपोर्ट में सार्वजनिक रुप से प्रस्तुत करती है जिसे आप कंपनी की ऑफिशियल वेबसाइट या मनी कंट्रोल पर आराम से देख सकते हैं।


3. लगातार मुनाफा कमा रही हो


शेयर मार्केट में किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने से पहले सर्वप्रथम यह जरूर देख लें कि आप जिस कंपनी के शेयर खरीदना चाहते हैं वह पिछले कई वर्षों से या कम से कम 2-3 वर्षों से लगातार मुनाफा कमा रही हो चाहे थोड़ा ही कमा रही हो पर घाटे में नहीं होनी चाहिए।


जो कंपनी पिछले वर्षों से लगातार नुकसान ही झेल रही है तो इस बात की संभावना कम ही होती है कि वह जल्दी से मुनाफा कमाने लगे और हमें ऐसी क्या पड़ी है जो इसी कंपनी के शेयर खरीदे अतः ऐसी कंपनी के शेयर खरीदकर जोखिम लेने से बचना चाहिए जो घाटे में चल रही हो और उस कंपनी के शेयर खरीदने चाहिए जो पिछले वर्षों से लगातार मुनाफा कमा रही हो।



4. उत्पाद और सेवाओं की बाजार में मांग हो


हमेशा उसी कंपनी के शेयर खरीदने चाहिए जिसके उत्पाद और सेवाओं की आज के समय मार्केट में अच्छी खासी डिमांड हो क्योंकि किसी भी कंपनी के प्रोडक्ट्स और सर्विसेज की डिमांड जितनी ज्यादा होती है उसकी बिक्री भी उतनी ही ज्यादा होती है और परिणामस्वरूप वह उतना ही ज्यादा मुनाफा अर्जित करती है और कोई भी कंपनी जितना ज्यादा मुनाफा अर्जित करती है उसका शेयर प्राइस भी समय के साथ उतना ही ज्यादा बढ़ता है।


ऐसी कंपनी के शेयर खरीदने से भला क्या फायदा जिसके बनाये उत्पाद और सेवाएं कोई खरीदना ही ना चाहता हो अतः यदि आप ऐसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं जिसके उत्पाद और सेवाओ की तात्कालिक बाजार में अच्छी खासी मांग है तो आपको लंबे समय मे अच्छा खासा मुनाफा मिलना लगभग तय ही होता है।


5. फ्यूचर में भी मांग बनी रहनी चाहिए


किसी भी कंपनी के शेयर खरीदते समय इस बात का आवश्यक रूप से ध्यान रखना चाहिए कि उसके Products & services की डिमांड भविष्य में भी बराबर बनी रहने वाली हो ऐसा ना हो कि कंपनी जो उत्पाद और सेवाए आज देती है उनकी मांग अभी के समय में तो है पर भविष्य में आने वाले कुछ वर्षों में बंद ना हो जाये।


जैसे दैनिक जीवन मे उपयोग आने वाली वस्तुएं खाने पीने की चीजें और साबुन, तेल, टूथ पेस्ट ऐसी चीजें हैं जिनका उपयोग करना लोग कभी भी बंद नहीं करेंगे चाहे लॉक डाउन या वर्ल्ड वार जैसी कैसी भी परिस्थिति हो जाए।


6. शेयर प्राइस 200 DMA के आस पास हो


शेयर मार्केट में अक्सर लोग यही गलती करते हैं कि जब किसी स्टॉक का भाव बहुत जाता है तब उसे शीर्ष के ऊंचे भाव पर खरीद लेते हैं और फिर जब वह नीचे आने लगता है तो पैनिक हो जाते हैं और नुकसान उठाकर बेच देते हैं


देखिए शेयर का चढ़ना गिरना उसकी प्रवर्ति होती है अतः कोई कंपनी चाहे कितनी भी अच्छी क्यो ना हो शीर्ष के ऊंचे भाव पर उसका शेयर खरीदना अच्छा नहीं होता है इसलिए कम से कम 200-Day moving average के आस पास स्टॉक प्राइस आने पर ही उसका शेयर खरीदना चाहिए।



7. बड़े निवेशक जैसे FII, DII हिस्सेदारी बढ़ा रहे हो


यदि किसी कंपनी में बड़े निवेशक जैसे फॉरेन इंस्टिट्यूशनल इन्वेस्टर, डोमेस्टिक इंस्टीट्यूटीनल और म्यूचुअल फंड्स आदि अपनी हिस्सेदारी बढ़ाते हैं तो ये उस कंपनी के लिए एक अच्छा संकेत होता है क्योंकि ये कंपनी की ग्रोथ के बारे में सब कुछ जांच परखकर लंबे समय के लिए बहुत बड़ी धनराशि (हजारों करोड़) के साथ निवेश करते हैं।


और इतने सारे शेयर को एक साथ ना तो खरीद सकते हैं और ना ही बेच सकते हैं क्योंकि एक साथ बहुत ज्यादा संख्या में शेयर बेचने पर उन्हें कोई खरीदार नहीं मिलता जिससे शेयर प्राइस बहुत नीचे चला जाता है और फिर नुकसान के डर से सभी लोग अपने शेयर बेचने लगते हैं जिससे उन्हें भारी नुकसान हो सकता है और खरीदने के केस में भी ऐसा ही होता है।


FII, DII जैसे बड़े निवेशक अपनी हिस्सेदारी बढ़ा रहें हैं या घटा रहे हैं इसे आप मनी कंट्रोल पर उस कंपनी का नाम सर्च कर उसकी फाइनेंशियल रिपोर्ट के शेयर होल्डिंग पैटर्न में देख सकते हैं।


8.  फ्यूचर टेक्नोलॉजी पर काम कर रही हो


शेयर मार्केट से कई गुना पैसे कमाने का यह सबसे कारगर तरीका है पर इसमें बहुत रिसर्च और अनुभव की आवश्यकता होती है आप अपनी समझ से ऐसी कंपनी के शेयर खरीद सकते हैं जो एक ऐसी टेक्नोलॉजी पर काम कर रही हो जिसकी डिमांड भविष्य में बहुत ज्यादा बढ़ने वाली हो।


जैसे इलेक्ट्रिक वेहिकल्स, साइबर सिक्युरिटी, रोबॉट और डाटा प्रोग्रामिंग जैसी तकनीक पर काम करने वाली कंपनियों के शेयर अपनी रिसर्च से खरीद सकते हैं ऐसी कंपनियों के शेयर मल्टीबेगर बनने के चांसेज काफी ज्यादा होते हैं।



9. प्रतिस्पर्धा कम होनी चाहिए


जिस कंपनी के प्रतिस्पर्धी जितने कम होते हैं उस कंपनी के ग्रोथ के चांसेज उतने ही ज्यादा होते हैं क्योंकि उपभोक्ताओं के पास सिर्फ उसी के उत्पाद और सेवाएं लेने के अलावा कोई विकल्प ही नहीं होता है जैसे IRCTC कंपनी रेल क्षेत्र में ऑनलाइन टिकट बुकिंग, रेल नीर, रेल फ़ूड मामले में प्रतिस्पर्धा रहित कंपनी है


वैसे आज के समय प्रत्येक क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा पाई जाना आम बात है तो आपको कोशिश करनी चाहिए कि उस कंपनी के शेयर खरीदे जिसके कम हो और वह अपनी Peer companies के मुकाबले मजबूत हो।


10. प्रबंधन पारदर्शी और धोखाधड़ी रहित होना चाहिए


किसी भी कंपनी के शेयर खरीदते समय एक बार यह जरूर देख लेना चाहिए कि उस कंपनी ने पहले कभी निवेशकों के साथ धोखाधड़ी तो नहीं की है और अपने आंकड़ों में फेर बदल कर शेयर प्राइस को मैनिपुलेट तो नहीं किया है।


क्योंकि भारत के शेयर मार्केट में आज के समय लगभग 6000 कंपनियां लिस्टेड हैं जिनमें कुछ को धोखाधड़ी और मैनिपुलेट के चलते शेयर बाजार से Delist भी कर दिया जाता है अतः आपको हमेशा एक साफ सुथरे प्रबंधन, मैनिपुलेट और धोखाधड़ी रहित कंपनी के ही शेयर खरीदने चाहिए।

Post a Comment

Previous Post Next Post