छह माह तक स्तनपान करवाने वाली मां को कम होता है इस बीमारी का खतरा


जो मां छह महीने या अधिक समय तक ब्रेस्ट फीड करवाती हैं उन्हें टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा घटकर लगभग आधा रह जाता है। एक शोध में यह पता चला है।

जेएएमए इंटरनल मेडिसीन में प्रकाशित शोध में बताया गया है कि मां बनने के बाद जो महिलाएं छह महीने या अधिक समय तक बच्चों को स्तनपान करवाती है उन्हें टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा 47 फीसदी तक घट जाता है।


अमेरिका की हैल्थकेयर कंपनी केयर परमानेंट में सीनियर रिसर्च साइंटिस्ट एरिका पी गुंडरसन ने कहा कि हमने पाया है कि ब्रेस्ट फीडिंग करवाने की अवधि और डायबिटीज का जोखिम कम होने में बहुत गहरा संबंध है।

शोधकर्ताओं ने कोरोनरी आर्टरी रिस्क डेवलपमेंट इन यंग एडल्ट्स शोध के 30 वर्षों के फॉलोअप के दौरान एकत्र आंकड़ों का विश्लेषण किया।


शोध के निष्कर्ष से यह तथ्य और मजबूत हो जाता है कि ब्रेस्टफीडिंग करवाना मां और बच्चे दोनों के लिए काफी लाभदायक है।
loading...

No comments