सुबह उठने के इस तरीके को आयु्र्वेद में बताया गया है सबसे सही


अच्छी नींद के बाद दिनभर व्यक्ति हेल्दी और तरोताज़ा महसूस करता है। लेकिन, सही मात्रा में नींद से जहां सेहत अच्छी रहती है। वहीं, सुबह सही तरीके से उठने से भी सेहत पर असर पड़ता है। आयुर्वेद में सुबह बिस्तर से उठने के लिए कुछ तरीके बताए गए हैं। जिनका, पालन करके आपको कई हेल्दी फायदे होगें।


आयुर्वेद के अनुसार, सुबह सूर्योदय से पहले उठना चाहिए। इससे, आपका शरीर दिन चढ़ने की प्रक्रिया के साथ तालमेल बिठा सकता है। इसके अलावा कुछ और भी बातों का भी ध्यान रखना चाहिए।


सुबह आँख खुलने के बाद सबसे पहले दाहिनी तरफ करवट लें। फिर, बिस्तर से उठें और बैठें। दरअसल, सोते समय शरीर की मेटाबॉलिक रेट बहुत कम हो जाती है। जिससे, शरीर पूरी तरह से आराम की मुद्रा में चले जाता है। अगर, आप अचानक से बिस्तर से उठ बैठते हैं या, बाहिनी ओर से उठते हैं। तो, आपके दिल  पर अधिक ज़ोर पड़ता है।


उठने के बाद अपने बिस्तर पर आराम से बैंठे। फिर, अपनी दोनों हथेलियों को रगड़ें। फिर, अपनी हथेलियों को आंखों पर रखें। इससे, नर्व्स को उत्तेजित किया जा सकता है और इससे आपकी नींद पूरी तरह खुल जाएगी। अब, अपनी हथेलियों को अपनी माथे, चेहरे और कंधों पर ले जाएं। इससे, शरीर में रक्त का संचार भी बेहतर होता है।
loading...

No comments