ज्योतिषशास्त्र के अनुसार पंच धातु की अंगूठी पहनने के ये नियम होते है सबसे ख़ास


ज्योतिषशास्त्र के अनुसार पंचधातु की अंगूठी को अनामिका उंगली यानी रिंग फिंगर में नहीं पहनना चाहिए। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार रिंग फिंगर में ये अंगूठी पहनने से फायदा नहीं, बल्कि नुकसान हो सकता है। पंचधातु में सोना, चांदी, तांबा, पीतल और सीसा, ये 5 धातुएं होती हैं। जानिए इस अंगूठी से जुड़ी खास बातें...

ये अंगूठी पहनने की विधि -
# किसी शुभ मुहूर्त में अंगूठी खरीदकर घर लाएं। गंगाजल या साफ पानी से धो लें।
# इसके बाद घर के मंदिर में अंगूठी को देवी-देवताओं के साथ रखकर पूजा करें।
# पूजा में अंगूठी पर कुंकुम, फूल, चावल, प्रसाद आदि चीजें चढ़ाएं। दीपक जलाएं, आरती करें। पूजा के बाद इस अंगूठी को पहनें।
#ध्यान रखें अंगूठी धारण करने से पहले किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी से परामर्श अवश्य करें।

क्या होता है फायदा -
# अगर सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि और राहु-केतु के दोष एक साथ दूर करना हो तो इंडेक्स, मिडिल या लिटिल फिंगर में पंचधातु की अंगूठी पहन सकते हैं।
# पंचधातु की अंगूठी रिंग फिंगर में नहीं पहनना चाहिए। इस उंगली में ये अशुभ फल देती है।
loading...

No comments