टी-बैग कि मदद से आप पा सकतें है इन 5 बिमारियों से निजात

चाय को भारत में सबसे ज्यादा प्रचलित पेय पदार्थ माना जाये तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। चाय है ही ऐसी चीज एक बार जिसको दीवाना बना दे, वह रात को नींद से उठकर भी चाय पी सकता हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं यह चाय कितने कमाल की चीज हैं जो कि रिफ्रेशमेंट के अलावा भी कई तरह से हमारे जीवन के लिए उपयोगी हैं। ऐसी कई शारीरिक समस्याएँ हैं जिनमे चाय का यह टी-बेग अपना कमाल दिखता है और अपनी चाप छोड़ जाता हैं। तो आइये हम बताते हैं आपको किस तरह से टी-बैग आपको राहत दिलाता हैं।

सूजन दूर करने में


टी-बैग्स का इस्तेमाल कर आप सूजन में भी राहत पा सकती हैं। अगर आपके शरीर के किसी भी अंग में सूजन है तो सबसे पहले टी-बैग्स को गुनगुने पानी में भिगोएं। इसके बाद उन्हें जिस जगह पर सूजन है वहां 20 से 30 मिनट तक रखें, जल्द ही आपको आराम मिलेगा।

मसूढ़ों से खून आने पर


अगर आपके मसूढ़ों से खून आ रहा हो तो टी-बैग्स आपके काम आ सकते हैं। इसके लिए आप मसूढ़ों पर ठंडा किया हुआ यूज्ड टी-बैग रखें। जल्द ही मसूढ़ों से खून आना बंद हो जाएगा। साथ ही सूजन में भी कमी आएगी।

खरोंच लगने पर


टी-बैग त्वचा पर लगे बाहरी खरोंचों और तमाम तरह के चोटो को जल्द ही ठीक करने में सक्षम है। टी-बैग्स में टैनिन होता है जो खरोंचों से निकलने वाले खून को रोकता है। साथ ही भीगे टी-बैग को खरोच या चोट पर लगाने से वे जल्द ठीक हो जाते हैं और दर्द में भी राम मिलता है।

मस्सों के लिए


टी-बैग्स में टैनिक एसिड मौजूद होते हैं, जो मस्सों को प्रभावी बनाने वाले बैक्टीरिया से लड़ता है। इससे मस्सों के सूखने की प्रक्रिया में तेजी आती है। इसके लिए मस्सों पर गर्म टी-बैग 10 मिनट के लिए रखें। यह बेहद ही असरकारी उपाय है। दिन में दो से तीन बार यह प्रक्रिया दुहराने से जल्द ही मस्से सूख जाएंगे।

जलने पर


सनबर्न या फिर किसी तरह की जलन होने पर टी-बैग का इस्तेमाल कर आप इसे जल्दी ठीक कर सकती हैं। इसके लिए टी-बैग्स को गर्म पानी से बाहर निकालकर ठंडा होने के लिए रख दें। फिर उन्हें जली हुई जगह पर रखें। बिना रगड़े उसे जलन पर रखे रहने दें। आपको जल्द ही राहत मिलेगा। इसके अलावा किसी तरह के रैशेज और कीड़ों-मकोड़ों के काटने से हो रही खुजली को भी टी-बैग की मदद से सही किया जा सकता है।
loading...

No comments