सब-इंस्पेक्टर और सिपाही ने गोली मारकर की आत्महत्या


गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश (यूपी) में अलग-अलग स्थानों पर एक सब-इंस्पेक्टर और एक सिपाही ने गोली मारकर आत्महत्या कर ली। सब-इंस्पेक्टर ने गाजियाबाद के कवि नगर थाना क्षेत्र में गोली मारकर खुदकुशी की, जबकि सिपाही बिजनौर कलेक्ट्रेट परिसर में तैनात था। दोनों ही मामलों की जांच जारी है। पहली घटना गाजियाबाद के कवि नगर थाना इलाके की न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी (संजय नगर इलाका) में शुक्रवार की सुबह घटी। यहां दारोगा मधुप सिंह ने घर के अंदर ही सिर में रिवॉल्वर से खुद को गोली मारकर जान दे दी। हादसे के बाद मौके पर पहुंची कवि नगर थाना पुलिस ने घटनास्थल सील कर दिया है।


बताया जाता है कि मधुप सिंह कुछ समय पहले मुरादाबाद जिले में तैनात थे। मुरादाबाद में तैनाती के वक्त उनके खिलाफ सर्विस रिवॉल्वर चोरी का केस दर्ज किया था। इसी के चलते उनका प्रमोशन भी रुका हुआ था। इन्हीं तमाम वजहों से काफी समय से दारोगा मधुप सिंह तनाव में रहते थे। वर्तमान में वह बागपत जिले के थाना बालैनी में नियुक्त थे। मौके से जब्त सुसाइड नोट में दारोगा ने कुछ लोगों पर मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाया है। छानबीन में पुलिस को पता चला है कि मधुप ने पहली पत्नी की मौत के बाद दूसरी शादी की थी।

वहीं, दूसरी घटना बिजनौर जिला कलेक्ट्रेट परिसर में घटी। यहां कलेक्ट्रेट कार्यालय में ड्यूटी पर तैनात सिपाही अंकुर राणा ने खुद को सर्विस राइफल से गोली मारकर खत्म कर लिया। अंकुर राणा बागपत जिले के निरपुडा का रहने वाला था। अंकुर ने अपने मुंह में गोली मारकर आत्महत्या की है। जिला पुलिस के मुताबिक अंकुर की शादी इसी साल फरवरी में हुई थी। शादी के कुछ दिनों के बाद से ही अंकुर मानसिक तनाव में रहने लगा था।
loading...

No comments