loading...

प्राचीन काल में लोग कामसूत्र के इस सेक्स गेम के जरिए बनाते थे यौन संबंध


भारत एक ऐसा देश है जिसकी सांस्कृतिक धरोहर बहुत संपन्न है। प्राचीन भारत में कई ऐसी चीजें और वाकये हुए जिनके बारे में पता चलने पर हर कोई चौंक जाता है। उस वक्त के लोग सेक्स लाइफ को लेकर भी काफी ऐक्टिव थे। यह बात इस तथ्य से भी साफ हो जाती है कि भारत को 'लैंड ऑफ कामसूत्र' कहा जाता है। इसकी रचना महर्षि वात्स्यायन ने की थी।

चूंकि उस वक्त के लोग अपनी सेक्स लाइफ को लेकर काफी सजग थे, उस वक्त एक सेक्स गेम (समूह सम्भोग) का खेल खेला जाता था, जिसका नाम था घट कंचुकी। इस गेम में महिलाओं और पुरुषों का एक समूह हिस्सा रात के वक्त एक जगह इकट्ठा होता था। किसी भी जाति के पुरुष और महिलाएं इस गेम में हिस्सा ले सकते थे। महिलाएं और पुरुष अपने सारे कपड़े उतारकर एक घड़े में डाल देते। इसके बाद महिलाएं एक पेपर पर बनाए गए चक्र के निशान के इर्द-गिर्द बैठ जातीं।

गेम में हिस्सा ले रहा हर पुरुष घड़े में मौजूद महिलाओं के कपड़ों में से एक कपड़ा उठाता और जिस महिला का वह कपड़ा होता था, वह महिला उस रात के लिए उसका सेक्स पार्टनर बन जाती थी। यह गेम तब तक चलता रहता था जबतक कि सभी पुरुष अपने सेक्स पार्टनर चुनकर यौन संबंध नहीं बना लेते थे। कुछ किताबों में इस सेक्स गेम को 'चक्रपूजा' का नाम भी दिया गया है। इस गेम में जितनी संख्या महिलाओं की होती थी उतनी ही पुरुषों की भी।

No comments