loading...

हिंदू धर्म के शास्त्रों में लिखा है, ये तीन काम नग्न होकर न करें..!!


इस आधुनिकता के दौर में अधिकांश लोग स्टाइलिश कपड़ों के शौकीन होते हैं यानि हर खास मौके के लिए उनके पास खास किस्म के कपड़े मौजूद होते हैं। लेकिन हिंदू धर्म के शास्त्रों के अनुसार कई ऐसे काम है जिन्हें नग्न होकर करना अशुभ माना जाता है। तो चलिए हम आपको बताते हैं शास्त्रों में बताए गए उन तीन कामों के बारे में, जिन्हें नग्न होकर बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए....

1. नग्न होकर ना करें स्नान
विष्णु पुराण के बारहवें अध्याय में कहा गया है कि व्यक्ति को पूरी तरह से नग्न होकर स्नान नहीं करना चाहिए। अगर आप स्नान करने जा रहे हैं तो आपके तन पर एक कपड़ा तो होना ही चाहिए। दरअसल श्रीकृष्ण ने अपनी लीलाओं में नहाते वक्त गोपियों के वस्त्र चुराकर यह संदेश दिया था कि मनुष्य को स्नान करते वक्त निर्वस्त्र नहीं होना चाहिए क्योंकि इससे जल के देवता का अपमान होता है।

2. नग्न होकर नहीं सोना चाहिए
भले ही विज्ञान यह दावा करता है कि नग्न होकर सोना सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है लेकिन विष्णु पुराण के अनुसार पूर्ण रुप से नग्न होकर नहीं सोना चाहिए। ऐसा करने से चंद्र देवता का अपमान होता है।

3. नग्न होकर ना करें आचमन
कुछ लोग निर्वस्त्र होकर देवी-देवताओं की आराधना करते हैं लेकिन विष्णु पुराण के अनुसार पूजा के दौरान नग्न होने के बजाय बिना सिले हुए वस्त्र पहनने चाहिए। इसके अलावा पूजा या यज्ञ के दौरान नग्न होकर आचमन करना विधि के खिलाफ माना जाता है। इसलिए पूजा या आचमन के दौरान व्यक्ति को निर्वस्त्र नहीं होना चाहिए। गौरतलब है कि हिंदू धर्म के शास्त्रों में उल्लेख किए गए इन कामों को निर्वस्त्र होकर करना अशुभ माना गया है इसलिए व्यक्ति को इन तीन कामों को वस्त्र पहनकर ही करना चाहिए।

No comments