loading...

"वो बाहर आ रहा है उसे पकड़ो" जब माँ ने दिया बच्चे को जन्म, सोशल मीडिया पर तस्वीरे वायरल!


माँ बनना हर महिला के लिए एक सुखद एहसास होता है, एक बच्चे की आने की ख़ुशी पूरे परिवार को एक डोर से बांधता है। वहीं होने वाली माँ के अंदर काफी शारीरिक और मानसिक बदलाव भी आते हैं क्यूंकि प्रेगनेंसी एक सुखद एहसास तो है ही पर इसके साथ बहुत से उतार-चढाव भी महिला के ज़िन्दगी में जुड़ जातें हैं। वह माँ ही होती है जो अपने बच्चे को 9 महिनों तक हर दुख तकलीफें झेलकर पालती है। वाकई में माँ के प्यार की तुलना दुनिया की किसी भी चीज से नहीं कि जा सकती। आज ऐसी ही एक माँ की तस्वीरे सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही हैं।


यह घटना अमेरिका के मैनहटन शहर की है जहां की रहने वाली जेसिका हॉगन को लेबर पेन इतना अधिक बढ़ गया कि उन्हें अपने बच्चे को अस्पताल के कॉरिडोर में ही जन्म देना पड़ा। रिपोर्ट के मुताबिक, बच्चे का जन्म नजदीक था इसलिए जेसिका हॉगन के पति ने उन्हें जल्द अस्पताल में भर्ती कराने की सोच रहे ते। लेकिन, पूरे परिवार को ऐसा लग रहा था कि अभी बच्चे के जन्म में कुछ दिनों का वक्त है।


उन्हें लेबर पेन की कोई शिकायत नही थी। लेकिन, अचान​क देर रात में तकरीबन 3 बजे उनके पेट में भयानक दर्द उठा और जेसिका को समझ में आया की उनका बच्चा किसी भी वक्त दुनिया में आ सकता है। इसके बाद जेसिका के पति ट्रेविस उन्हें तत्काल मैनहटन शहर के क्रिस्टी हॉस्पिटल लेकर गए। लेकिन, इससे पहले की वो अस्पताल का सारी फॉरमेलिटी पूरी करते जेसिका का लेबर पेन काफी बढ़ गया। ट्रेविस के मुताबिक, वो कुछ समझ नहीं पा रहे थे।


इस दौरान जेसिका अपना पेट पकड़े हुए हॉस्पिटल के भीतर वार्ड की तरफ बढ़ रही थीं। जेसिका को लगा कि अब वो और बर्दास्त नहीं कर सकती इसलिए वो वहीं बैठ गई और चीखते हुए अपना ट्राउजर उतारने लगी। जेसिका के मुताबिक, मैंने अपनी पैंट नीचे की और अपने पति से कहा कि ‘वो बाहर आ रहा है उसे पकड़ो।’ इसके कुछ देर बाद ही ट्रेविस के हाथ में अपना बच्चा था।


हालांकि, जेसिका की आवाज सुनकर अस्पताल की कुछ नर्सें वहां पहुंच गई लेकिन जेसिका की हालत देखते हुए उन्होंने उसे वहीं लिटा दिया। फिलहाल बच्चा एकदम स्वस्थ है और उसे किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है।जेसिका ने बताया कि, वो कभी सोच भी नही सकती थी कि उनका बच्चा ऐसे जन्म लेगा। जेसिका का यह का यह पांचवा बच्चा है। इससे पहले उनकी चार बेटियां है। 

No comments